Breaking News
Home / top / तनाव क्या है, जाने तनाव के कारण और तनाव दूर करने के उपाय

तनाव क्या है, जाने तनाव के कारण और तनाव दूर करने के उपाय

मष्तिष्क द्वारा लगातार किसी विषय पर गहन चितंन के साथ-साथ नकारात्मक भाव का आना तनाव को जन्म देता है,  और जब तनाव बहुत अधिक सीमा तक बढ़ जाता है तो व्यक्ति के स्वाभाव के साथ-साथ बहुत सी शारीरिक व्याधियों का भी कारण बन सकता है |

तनाव अधिक बढ़ जाने पर मानसिक संतुलन बिगड़ने लगता है | तनाव होने के बहुत से कारण हो सकते है जैसे : किसी असाध्य रोग से पीड़ित होना, परिवार में कलह , आर्थिक तंगी, नौकरी में असुरक्षा,  सगे-संबंधी की मौत, प्रेम में विफलता, दाम्पत्य जीवन में कलह इत्यादि |

तनाव दूर करने के उपाय :-

स्वयं के लिए समय जरुर निकाले – यदि आपने स्वयं को इतना अधिक व्यस्त कर लिया है कि आपके पास समय ही नहीं है,  खुद को खुश रखने का, बाहर घूमने का, परिवार को समय देने का तो वो सभी काम करने लग जाए तो आपको पसंद हो | यह सब इतना आसान नहीं है लेकिन अगर समय निकाला जाये तो थोडा बहुत समय तो आप निकाल ही सकते है |

बच्चों के साथ समय व्यतीत करें – यदि आपके परिवार में कोई बच्चा है तो तनाव को दूर करने में यह आपके लिए लाभप्रद सिद्ध हो सकता है | बच्चों के साथ खेलना शुरू करें, क्योंकि बच्चों की हंसी देखने मात्र से सभी दुःख दूर हो जाते है | कुछ पलों के लिए तो भयंकर दर्द से पीड़ित रोगी भी हँसते हुए बच्चे को देखकर अपना दर्द भूल जाता है |

सुबह जल्दी उठकर व्यायाम व योग करें – शरीर को स्वस्थ रखने में सुबह की सैर के साथ-साथ उचित व्यायाम और योग सबसे अधिक लाभप्रद सिद्ध हो सकते है |

परिवार के साथ समय व्यतीत करें – तनाव की स्थिति में अधिक समय अपने परिवार के सदस्यों के साथ बिताएं | अपने मित्रों के साथ बाहर घूमने का प्लान बनाएं | ऐसे लोगों से दूरियाँ बनाये जिनके साथ आपकी बनती न हो |

रामचरितमानस का पाठ करें – तनावग्रस्त व्यक्ति के लिए अध्यात्म का मार्ग किसी अँधेरे में रौशनी करने के बराबर है | ऐसे में रामचरितमानस का पाठ अर्थ सहित करने से तनावग्रस्त व्यक्ति अपनी सभी मानसिक व्याधियों से छुटकारा पाता है | जब भी समय मिले रामचरितमानस के कुछ दोहे अर्थ सहित अवश्य पढ़े |

अपना कार्य समय पर पूरा करें – यदि आपके तनाव का कारण आपकी नौकरी है व कार्य की अधिकता है | तो ऐसे में स्वयं को तनाव में रखने की कोई आवश्यकता नहीं है | सबसे पहले तो यह विचार मन में लाये कि पूरा जीवन हमें काम ही तो करना है तो काम के लिए चिंता करने की क्या जरुरत | सुबह से शाम फिर सुबह से शाम, प्रतिदिन काम ही काम यह तो हर व्यस्क व्यक्ति करता है | इसमें तनाव का कोई स्थान नहीं होना चाहिए |अपने कार्य को समय पर पूरा करने का प्रयत्न करें | आत्मचिंतन करें कि क्यों आप अपना कार्य समय पर पूरा नहीं कर पा रहे है ? उचित कारण का पता लगाकर उसका समय रहते निवारण करें | अपनी कार्य करने की गति को बढ़ाये |

संतुलित आहार और भरपूर नींद ले –  कभी-कभी लम्बे समय तक किसी विटामिन की कमी मानसिक रूप से कमजोर बना सकती है इसलिए पहले तो डॉक्टर से सलाह लेकर कुछ समय के लिए मल्टीविटामिन का प्रयोग करें व संतुलित आहार जिसमें विटामिन्स और प्रोटीन उचित मात्रा में मिले, ऐसा भोजन करें | शारीरिक और मानसिक थकान दूर करने में सबसे अधिक भूमिका नींद की होती है इसलिए प्रतिदिन 8 घंटे नींद अवश्य ले |

 

About News Investigation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *